महबूबा मुफ्ती के काफिले पर पत्थरों से हमला, खिरम दरगाह से लौट रही थीं वापस

0
257

अनंतनाग लोकसभा क्षेत्र में 16 विधानसभा क्षेत्र हैं, जो सभी दक्षिण कश्मीर में आते हैं. ये सभी विधानसभा क्षेत्र पिछले पांच सालों से हिंसा की चपेट में हैं

जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग सीट से उम्मीदवार और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के काफिले पर सोमवार को हमला हुआ. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार महबूबा पर हमला उस वक्त हुआ, जब वह खिरम दरगाह से वापस लौट रहीं थीं. मिली जानकारी के अनुसार काफिले पर हमला के दौरान उन्हें किसी तरह की चोट नहीं आई. वह सुरक्षित निकल गईं. हालांकि उनके काफिले की एक गाड़ी को नुकसान हुआ है. समाचार लिखे जाने तक जिन लोगों ने काफिले पर हमला किया है उनकी पहचान नहीं हो सकी थी.

बता दें साल 2014 के चुनाव में अनंतनाग सीट पर महबूबा मुफ्ती ने जीत दर्ज की थी. उन्हें कुल 2,00,429 वोट मिले जो कुल वोटों का 53.41 प्रतिशत था. महबूबा मुफ्ती जब अपने पिता मुफ्ती मोहम्मद सईद के निधन के बाद सीएम बनीं तो उन्होंने सांसद के पद से इस्तीफा दे दिया. इसके बाद से कानून एवं व्यवस्था की स्थिति के चलते इस सीट पर उप-चुनाव नहीं हुए. लोकसभा चुनाव 2019 में इस सीट पर तीन चरणों में चुनाव होंगे.

अनंतनाग लोकसभा क्षेत्र में 16 विधानसभा क्षेत्र हैं, जो सभी दक्षिण कश्मीर में आते हैं. ये सभी विधानसभा क्षेत्र पिछले पांच सालों से हिंसा की चपेट में हैं. दूसरी तरफ राज्य में होने वाले चुनाव भी अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिए गए हैं. फिलहाल जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन लागू है.

जुलाई 2016 में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी की मौत के बाद राज्य में हिंसा भड़की थी, इसके बाद अलगाववादियों के जेल जाने का विरोध, एनआईए के छापे, जमात-ए-इस्लामी पर कार्रवाई, पुलवामा हमला और अनुच्छेद 370 और 35-ए को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी है. संभवत: चुनाव आयोग के लिए यहां चुनाव कराना सबसे मुश्किल काम होगा
.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here