भाजपा के बाद अब कांग्रेस करेगी हरियाणा में चार सीटों पर प्रत्याशी घोषित

0
655

Loksabha Election 2019 की सरगर्मी बढ़ने के साथ ही हरियाणा में भाजपा के बाद अब कांग्रेस अपने प्रत्‍याशियों की घोषणा करेगी। कांग्रेस चार प्रत्‍याशियों की घोषणा करेगी।

आम आदमी पार्टी से समझौते की चर्चा के बीच कांग्रेस आज हरियाणा की चार सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित कर सकती है। पार्टी आलाकमान ने वरिष्ठ नेता अहमद पटेल को अब आम आदमी पार्टी से दिल्ली, हरियाणा और पंजाब में समझौते के लिए अधिकृत किया है। हालांकि पार्टी के प्रदेश प्रभारी व राष्ट्रीय महासचिव गुलाम नबी आजाद ने आज स्क्रीनिंग कमेटी से पहले हरियाणा कांग्रेस नेताओं की बैठक बुलाई है।

आज होगी हरियाणा कांग्रेस की स्क्रिनिंग कमेटी की बैठक, प्रमुख नेता लेंगे हिस्‍सा

राज्य की 10 लोकसभा सीटों पर स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में विस्तृत विचार विमर्श से पहले राज्य के नेताओं से फीडबैक लिया जाएगा। राज्य की दस सीटों में से दो पर अभी पेंच अटका हुआ है। इनमें गुरुग्राम और फरीदाबाद की सीट पर विचार के लिए आजाद ने दोनों क्षेत्रों के दस-दस प्रमुख नेताओं को कांग्रेस वाररूम यानी 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड पर बुलाया है।

पार्टी की तरफ से दस में से जिन चार सीटों पर प्रत्याशी तय हैं, उनमें रोहतक से दीपेंद्र हुड्डा, सिरसा से डॉ.अशोक तंवर, कुरुक्षेत्र से नवीन जिंदल और भिवानी महेंद्रगढ़ से श्रुति चौधरी। माना जा रहा है कि इन चारों सीटों पर पार्टी मंगलवार को ही प्रत्याशियों की घोषणा कर सकती है।

इसके बाद 10 अप्रैल को होने वाली कांग्रेस पार्टी की संसदीय बोर्ड की बैठक में बाकी छह सीटों पर फैसला होगा। अंबाला से राज्यसभा सदस्य कुमारी शैलजा को पार्टी आलाकमान चुनाव लड़ाना चाहता है या नहीं, यह फैसला आने के बाद ही अन्य सीटों पर यह तय किया जाएगा कि किसी एक सीट पर महिला प्रत्याशी उतारी जाएगी या नहीं

श्रुति की बजाए किरण चौधरी को ही मजबूत मानते हैं कांग्रेस के रणनीतिकार

कांग्रेस के रणनीतिकार आलाकमान को अपनी रिपोर्ट भेज चुके हैं कि हरियाणा में समन्वय समिति के नाम पर एक हुई कांग्रेस के संदेश को राजनीतिक रूप से भुनाने का मौका है। इसलिए पार्टी के सभी वरिष्ठ नेताओं को लोकसभा चुनाव लड़ाया जाए।

इस क्रम में अंबाला से कुमारी शैलजा, सोनीपत या फरीदाबाद से पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा तो भिवानी-महेंद्रगढ़ से पूर्व सांसद श्रुति चौधरी की बजाए किरण चौधरी को ही चुनाव लड़ाया जाए। इतना ही नहीं करनाल से भाजपा का टिकट नहीं मिलने के बाद नाराज पूर्व सांसद अरविंद शर्मा को पार्टी के रणनीतिकार वापस कांग्रेस में लाने की तैयारी कर रहे हैं। पार्टी सूत्र बताते हैं कि अरविंद शर्मा को करनाल से उम्मीदवार बनाकर जीटी रोड बेल्ट पर पार्टी मजबूत होगी।

अंतिम दौर में होगी फरीदाबाद, गुरुग्राम की सीट की घोषणा

कांग्रेस का आम आदमी पार्टी से समझौता होगा या नहीं, इस असमंजस के बीच पार्टी फरीदाबाद व गुरुग्राम की सीट की अंतिम दौर में करेगी। पार्टी सूत्र बताते हैं कि यहां से संभावित उम्मीदवार महेंद्र प्रताप सिंह, अवतार भड़ाना, ललित नागर, यशपाल नागर, जेपी नागर, सुभाष कौशिक को भी चर्चा के लिए दिल्ली बुलाया गया है। समझौते के अंतर्गत यदि पार्टी की कोई सीट आम आदमी पार्टी को जाएगी तो वह गुरुग्राम ही हो सकती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here